Breaking News

जब गुरुवार को पड़ जाए प्रदोष तो ये होने वाला है आपके साथ !

गुरुवार दिनांक 20.12.18 मार्गशीर्ष शुक्ल त्रयोदशी पर गुरु प्रदोष का पर्व मनाया जाएगा। शिव को समर्पित त्रयोदशी सर्व दोषों का नाश करती है, अतः इसे प्रदोष कहा जाता है। शास्त्रानुसार इस दिन समस्त दिव्य शक्तियां शिवलिंग में समा जाती हैं। प्रदोषकाल में सिर्फ शिवलिंग के दर्शन से सर्व जन्मों के पाप मिट जाते हैं व बेलपत्र चढ़ाकर दीप जलाने से अनेक पुण्य प्राप्त होते है। वार अनुसार प्रदोष पूजन करने का शास्त्रीय विधान है। गुरु प्रदोष की पौराणिक कथानुसार देवासुर संग्राम में वृत्रासुर से डरकर देवगण बृहस्पति की शरण गए। तब देवगुरु ने वृत्रासुर के बारे में उन्हें बताया कि वृत्रासुर ने अपने तपोबल से शिव को प्रसन्न किया था। बृहस्पति ने देवगणों को गुरु प्रदोष का पालन करने का आदेश दिया। देवगणों ने गुरु आज्ञा का पालन कर वृत्रासुर का अंत किया। गुरु प्रदोष के व्रत पूजन, उपाय से शत्रु का अंत होता है, दुर्भाग्य से मुक्ति मिलती है व परिजनों के सारे कष्ट दूर होते हैं।

स्पेशल पूजन विधि: संध्या के समय सूर्यास्त से 15 मिनट पूर्व शिवालय जाकर शिवलिंग का विधिवत षोडशोपचार पूजन करें। शिवलिंग का पंचामृत, शहद, पीत चंदन मिले जल, दूध, और पीतल के लोटे से अभिषेक करें। सूर्यास्त के बाद गाय के घी में केसर मिलाकर दीपक करें, चंदन की धूप करें, पीत चंदन से त्रिपुंड बनाएं, पीले कनेर के फूल चढ़ाएं, 5 केलों का फलाहार चढ़ाएं। बेसन के लड्डू का भोग लगाएं। रुद्राक्ष की माला से 108 बार यह विशेष मंत्र जपें। पूजन के बाद भोग प्रसाद स्वरूप सभी में वितरित करें।

सूर्यास्त पूर्व गौधूलि मुहूर्त: शाम 16:24 से शाम 17:24 तक।

सूर्यास्त पश्चात प्रदोष मुहूर्त: शाम 17:24 से शाम 18:47 तक।

स्पेशल मंत्र: वृं वृत्ता-वृत्त-कराय नमः शिवाय वृं॥

स्पेशल टोटके:
शत्रुओं के अंत के लिए: 
भोजपत्र पर केसर से “शत्रुहंता” लिखकर शिवलिंग पर चढ़ाएं।

दुर्भाग्य से मुक्ति के लिए: मौली में पिरोए 12 पीले फूल काले शिवलिंग पर चढ़ाएं।

परिजनों के कष्ट हरण के लिए: परिजनों का नाम लेते हुए शिवालय में 13 केले चढ़ाकर 13 भिखारियों को दान करें।

गुडलक के लिए: शिवलिंग पर पीला कनेर का फूल चढ़ाकर जेब में रखें।

विवाद टालने के लिए: शिवलिंग पर चढ़े पपीते के 2 टुकड़े करके 2 गरीबों में बाटें।

नुकसान से बचने के लिए: पीले धागे में सफ़ेद फूल पिरोकर शिवलिंग पर चढ़ाएं।

प्रोफेशनल सक्सेस के लिए: शिवलिंग पर चढ़ा मूतीचूर का लड्डू किसी भिखारी को दान करें।

एजुकेशन में सक्सेस के लिए: पीले स्केच पेन से किसी किताब पर “ह्रं” लिखें।

फैमिली हैप्पीनेस के लिए: पूजाघर में बैठकर शिव चालीसा का पाठ करें।

लव लाइफ में सक्सेस के लिए: कागज़ पर पीले स्केच पेन से लवर का नाम लिखकर शिवलिंग चढ़ाएं।

About Akhilesh Dubey

Akhilesh Dubey

Check Also

चंद्रग्रहण के बाद ये काम करना न भूलें

आज 2019 का पहला चंद्रग्रहण लग रहा है। चंद्र ग्रहण में चंद्रमा आम दिनों के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *