Breaking News

पाक इतिहास में सोशल मीडिया पर महिलाओं को ब्लैकमेल करने वाले को मिली सबसे बड़ी सजा

लाहौर: पाकिस्तान में एक आतंकवाद रोधी अदालत ने 200 महिला डॉक्टरों और नर्सों को उनके सोशल मीडिया अकांउट के जरिए ब्लैकमेल करने वाले एक ‘साइबर स्टॉकर’ को 24 साल की सजा सुनाई है। यह पाकिस्तान के इतिहास में सोशल मीडिया अपराध से संबंधित जुर्म में किसी दोषी को दी गई अधिकतम सजा है। लाहौर की आतंकवाद रोधी अदालत के न्यायाधीश सज्जाद अहमद ने बुधवार को अब्दुल वहाब को कुल 24 साल की सजा सुनाई और उस पर सात लाख रुपये का जुर्माना लगाया। न्यायाधीश ने वाहब को 14 साल की जेल और 500,000 रुपए का जुर्माना लगाया।

कैद की सजा और 100,000 रुपए का अर्थदंड भी लगाया गया
इसके अलावा, उस पर सात साल की कैद की सजा और 100,000 रुपए का अर्थदंड लगाया गया। इसके बाद उसे तीन साल की जेल की सजा और 100,000 रुपये की सजा दी गई है। अदालत ने कहा कि सभी सजाएं साथ-साथ चलेंगी। साल 2015 में यह मामला सामने आया था कि लाहौर के सरकारी शिक्षण अस्पताल की महिला डॉक्टर और नर्सों समेत करीब 200 महिलाओं का उसने उत्पीडऩ किया था या उन्हें ब्लैकमेल किया था। इसके बाद पंजाब के लय्याह जिले के निवासी वहाब को नरन से 2015 में गिरफ्तार किया गया था। दोषी ने खुद को ‘सैन्य खुफिया’ विभाग का अधिकारी बताया और महिलाओं को उनकी आपत्तिजनक तस्वीरों को उनके फेसबुक अकांउट पर डालने की धमकी देकर उनसे पैसे ऐंठे।

About Akhilesh Dubey

Akhilesh Dubey

Check Also

पाक में होली खेलने वाली हिंदू लड़कियों को जबरन कबूल करवाया इस्लाम

इस्लामाबादः होली वाले दिन पाकिस्तान में रहने वाली दो हिंदू लड़कियों का अपहरण करके जबरन …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *