Wednesday , December 11 2019
Breaking News
Home / सिवनी / नशे में हैवानियत की हद पार कर गये दरिंदे ..!

नशे में हैवानियत की हद पार कर गये दरिंदे ..!

अवैध शराब के कारोबार पर फिर उठे सवाल ?

 राष्ट्र चंडिका (अमर नोरिया) नरसिंहपुर – जिले में बिक रही अवैध शराब और इस अवैध शराब के सेवन से घटित किए जा रहे अनेक अपराधों में जो मामले सामने आ रहे हैं उसमें यह देखा जा रहा है कि अधिकतर आरोपियों ने गंभीर घटनाओं को घटित करने के पूर्व शराब या अन्य नशे का सेवन किया होता है ऐसे में सवाल उठना लाजमी है कि एक ओर जहां हम समाज को कानून के माध्यम से सुरक्षित वातावरण निर्माण की बात करते हैं तो दूसरी ओर नशे के पनप रहे इस अवैध कारोबार से जो संगीन अपराध जिले में घटित हो रहे हैं इनकी जिम्मेदारी और इन अपराधों पर कैसे रोक लगेगी इस पर कभी कोई चर्चा ही नहीं की जा रही है । ताजा मामला सुआतला थाने के अंतर्गत एक 6 वर्षीय मासूम के साथ दुष्कर्म और फिर उसकी हत्या के रूप में सामने आया है मीडिया रिपोर्ट और समाचार पत्रों के माध्यम से जो बात सामने आई है कि मासूम के साथ दुष्कर्म करने वाले दरिंदों ने नशे में इस पूरी घटना को अंजाम दिया है तो यक़ीनन सवाल उठते हैं कि सुआतला थाना क्षेत्र के अंतर्गत अनेक गांवों में शराब का अवैध कारोबार काफी लंबे समय से तेजी से फल-फूल रहा है । गांवों में छोटे छोटे अपराधों, मारपीट ,चोरी सहित अन्य घटनाओं में नशेड़ी और शराब पीकर उत्पात मचाने की बातें लगातार सामने आती हैं अनेक गांवों के लोग अवैध शराब को बेचे जाने को लेकर शिकायत भी करते है किंतु कार्यवाही के नाम पर जब नाम सामने आते हैं तो साहब भी ठिठक जाते हैं यही सब देखकर अब ग्रमीणों ने चुप रहने में ही अपनी भलाई समझी है । पूर्व सरकार ने नर्मदा सेवा यात्रा के दौरान नर्मदा तटों से 5 किलोमीटर के दायरे में शराब के बेचे जाने पर पावंदी लगा दी है उसके पूर्व बरमान को पवित्र नगरी घोषित कर दिया गया था  किंतु आखिर क्या बात है कि शासन प्रशासन द्वारा शराब की बिक्री के ऊपर लगाए गए प्रतिबंध के बावजूद भी शराब का अवैध कारोबार बड़े ही सुगम और सफल तरीके से इस क्षेत्र में संचालित किया जा रहा है बच्ची के साथ हुए इस बीभत्स घटनाक्रम के बाद सवाल समाज में बैठे उन लोगों पर भी उठाया जाना चाहिए जो कि शराब के इस अवैध कारोबार को संरक्षण और संचालित करने में कहीं न कहीं अपनी भूमिका निभा रहे हैं  ! दरअसल बात यह है कि हम कभी भी इस तरह के मामलों को लेकर जो अपराध घटित हो रहे हैं उनकी तह में नहीं जाते काश उन दरिंदों को वहां पर सहजता से अगर शराब ना मिलती और वह शराब का सेवन ना किए होते तो एक परिवार की हंसती खेलती जिंदगी इस तरह का दुखों का पहाड़ न टूटता, बेटी के साथ हुई घटना से आज बेटी के ना होने के गम में पीड़ित परिजन सिसक नहीं रहे होते । पर क्या समाज के उन जिम्मेदारों को यह नहीं सोचना चाहिए कि हमारे क्षेत्र में जो अवैध नशे के धंधे के कारण जो अपराध बढ़ रहे हैं  इनको घटित होने से कुछ हद तक रोक लगाने के लिये क्षेत्र में अवैध शराब जैसे कारोबार पर रोक लगाकर कई हंसते खेलते परिवारों की खुशियो को लुटने से बचाया जा सकता है ।

About Akhilesh Dubey

Check Also

नगर पालिका तिराहा से बस स्टैण्ड तक वाहनों के लिये मुफीद होगा पार्किंग स्थल!

राष्ट्र चंडिका सिवनी । 26 नवंबर से लगातार आठ दिन चला अतिक्रमण विरोधी अभियान का पहला चरण …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *