Wednesday , December 11 2019
Breaking News
Home / देश / अमित शाह की राहुल को चुनौती- अपने 55 और हमारे 5 साल का हिसाब लेकर मैदान में आ जाओ

अमित शाह की राहुल को चुनौती- अपने 55 और हमारे 5 साल का हिसाब लेकर मैदान में आ जाओ

रांचीः भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने झारखंड के चक्रधरपुर में जनसभा को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने कांग्रेस नेता राहुल गांधी को चुनौती देते हुए कहा कि मैं आज राहुल गांधी को यहां चैलेंज देने आया हूं कि राहुल बाबा आपके 55 साल का शासन और हमारे पांच साल का शासन का हिसाब लेकर मैदान में आ जाओ।

अमित शाह ने कहा कि 2014 में देश ने मोदी जी को पूर्ण बहुमत दिया और झारखंड ने रघुवर दास जी की सरकार को पूर्ण बहुमत दिया और आज देखिए यहां किस गति से विकास हो रहा है। पांच साल के अंदर नरेन्द्र मोदी सरकार और रघुवर सरकार ने झारखंड के अंदर से नक्सलवाद को उखाड़ के यहां विकास का रास्ता प्रशस्त करने का काम किया है।

शाह ने विपक्ष पर हमला बोलते हुए कहा कि जो पार्टियां टिकट बांटने में खरीद-फरोख्त करती हो, जो पार्टियां आदिवासियों का शोषण करती हो, जो पार्टियां झारखंड की रचना की विरोधी हों, जो पार्टियां अरबों-खरबों का भ्रष्टाचार करती हों, उन पार्टियों को वोट देकर झारखंड का विकास नहीं हो सकता।

अमित शाह ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि जब झारखंड राज्य की रचना के लिए आंदोलन चल रहा था तो उस समय यहां के युवाओं पर कांग्रेस पार्टी ने गोलियां और डंडे चलवाए थे। कांग्रेस झारखंड की रचना का विरोध करती थी और आज हेमंत सोरेन उसी कांग्रेस पार्टी की गोद में बैठकर मुख्यमंत्री बनने के लिए निकले हैं। उन्होंने कहा कि उनका उद्देश्य केवल सत्ता प्राप्त करना है और भाजपा का उद्देश्य झारखंड को विकास के रास्ते पर ले जाना है।

देश के गृह मंत्री ने चुनावी सभा में कहा कि ओबीसी समाज के लिए हमने तय किया है कि जैसे ही भाजपा सरकार बनती है वैसे ही आदिवासियों, दलितों को आरक्षण कम किए बिना ओबीसी समाज के आरक्षण को बढ़ाने के लिए हम एक कमेटी बनाने की तैयारी कर चुके हैं। शाह ने कहा कि रघुवर दास ने पांच साल के अंदर जीरो करप्शन वाली सरकार देने का काम किया है।

About Akhilesh Dubey

Check Also

असम में CAB पर बवाल: प्रदर्शनकारियों और सुरक्षा बलों के बीच झड़प, बस पर पत्थरबाजी

गुवाहाटी: असम में नागरिकता (संशोधन) विधेयक के खिलाफ दो छात्र संगठनों के राज्यव्यापी बंद के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *