Breaking News
Home / सिवनी / सांसद बिसेन के प्रश्न पर स्वास्थ्य मंत्री ने गेंद फेंकी राज्य के पाले में

सांसद बिसेन के प्रश्न पर स्वास्थ्य मंत्री ने गेंद फेंकी राज्य के पाले में

राष्ट्र चंडिका सिवनी । लोकसभा में बालाघाट सांसद डॉ.ढाल सिंह बिसेन द्वारा सिवनी में ट्रामा केयर यूनिट की बात उठायी गयी। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री के द्वारा इस मामले को राज्य सरकार के पाले में डालते हुए, इसको आरंभ न कराने के लिये राज्य सरकार को इस बारे में आवगत कराने की बात कही गयी। सांसद डॉ.ढाल सिंह बिसेन के निज़ सचिव सतीश ठाकरे ने उक्ताशय की जानकारी देते हुए बताया कि सांसद डॉ.ढाल सिंह बिसेन के द्वारा तारांकित प्रश्न के जरिये प्रदेश में सिवनी सहित अन्य चार स्वीकृत अभिघात केंद्र (ट्रामा सेंटर) आरंभ नहीं किये जाने की बात रखी गयी।उन्होंने बताया कि सांसद डॉ.बिसेन द्वारा पूछे गये तारांकित प्रश्न के परिप्रेक्ष्य में लिखित में स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा यह जानकारी दी गयी कि राष्ट्रीय राज्य मार्ग पर 11वीं पंचवर्षीय योजना के दौरान प्रदेश के पाँच सरकारी अस्पतालों  शिवपुरी, ग्वालियर, नरसिंहपुर, सागर एवं सिवनी में एक-एक ट्रामा सेंटर खोले गये हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के द्वारा यह जानकारी भी दी गयी कि सभी ट्रामा सेंटर मौजूदा जनशक्ति एवं कर्मचारियों के साथ प्रचलनरत हैं। प्रश्न के इस जवाब के बाद डॉ.बिसेन ने सदन का ध्यान इस ओर आकृष्ट किया कि नेशनल हाईवे पर आये दिन दुर्घटनाएं होती हैं, सड़क दुर्घटनाओं में घायलों के उपचार हेतु ट्रामा सेंटर खोले गये हैं। उन्होंने कहा कि ट्रामा सेंटर के लिये आवश्यक उपकरण सहित स्टाफ की व्यवस्था तो एनएचएम के तहत की जा चुकी है, किंतु आर्थाे सर्जन एवं न्यूरो सर्जन की नियुक्ति नहीं होने के कारण ट्रामा सेंटर आरंभ नहीं हो पाये हैं। सांसद द्वारा उठाये गये इस प्रश्न का जवाब देते हुए केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ.हर्षवर्धन ने कहा कि भारत सरकार द्वारा ट्रामा सेंटर को संचालित करने के लिये राज्य सरकार को पर्याप्त सहायता दी जाती है। डॉक्टरों की नियुक्ति राज्य सरकार के अधिकार क्षेत्र में है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार के द्वारा केवल राज्य सरकार के साथ पॉलिसी शेयर की जाती है एवं पॉलिसी अनुसार ही उन्हें राशि आवंटित की जाती है। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री के इस जवाब पर डॉ.बिसेन ने ध्यान आकृष्ट कराया कि प्रदेश में आर्थाे एवं न्यूरो सर्जन के पद स्वीकृत नहीं हैं, जिसके कारण राज्य सरकार नियुक्ति नहीं कर पा रही है। सांसद डॉ.बिसेन ने कहा कि चिकित्सकों के अभाव में ट्रामा सेंटर बंद पड़े है, जिससे घायलों का उपचार नहीं हो पा रहा है। उन्होंने एनएचएम से डॉक्टरों की नियुक्ति करने के निर्देश राज्य सरकार को देने का आग्रह किया। इस पर डॉ.हर्षवर्धन ने आश्वासन दिया कि वे सांसद की इस चिंता से राज्य सरकार को अवगत करा देगें और ट्रामा सेंटर संचालित करने को लेकर चर्चा करेंगे।

About Akhilesh Dubey

Check Also

बरमान मेले के शुभारंभ कार्यक्रम में गूंजा अवैध खनन का मुद्दा

विधायक श्रीमती सुनीता पटैल ने प्रशासन की कार्यप्रणाली पर उठाये सवाल राष्ट्र चंडिका नरसिंहपुर – …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *