Breaking News

ISL : छेत्री ने 85वें मिनट में गोल कर केरल की उम्मीदों पर फेरा पानी, मैच ड्राॅ

बेंगलुरू : कप्तान सुनील छेत्री ने आईएसएल में 600 मिनट से चल रहा अपना गोल सूखा समाप्त करते हुए हीरो इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के पांचवें सीजन में बेंगलुरू एफसी की तीन मैचों में दूसरी हार टाल दी। बुधवार रात श्री कांतिरवा स्टेडियम में छेत्री के 85वें मिनट में किए गए गोल की मदद से बेंगलुरू ने केरल ब्लास्टर्स को 2-2 की बराबरी पर रोक दिया। ऐसा लग रहा था कि ब्लास्टर्स अपनी जीत का सूखा खत्म कर लेंगे क्योंकि 84वें मिनट तक वे 2-1 से आगे थे लेकिन लगातार प्रयास कर रहे छेत्री ने उदांता सिंह की मदद से बिल्कुल सही समय पर गोल करते हुए उसकी इच्छा पर पानी फेर दिया।

बराबरी के इस मुकाबले के बाद बेंगलुरू की टीम 31 अंकों के साथ 10 टीमों की तालिका में पहला स्थान पर बरकरार रखे हुए है। बेंगलुरू को मुंबई सिटी एफसी के हाथों 0-1 से हार मिली थी। उस हार के साथ बेंगलुरू ने नम्बर-1 स्थान गंवा दिया था, लेकिन अगले मैच में वह नार्थईस्ट युनाइटेड एफसी को हराकर न सिर्फ जीत की पटरी पर लौटी बल्कि पहला स्थान भी हासिल कर लिया था। ब्लास्टर्स इस ड्रॉ से हासिल एक अंक के बावजूद नौवें स्थान पर ही हैं। ब्लास्टर्स को इस सीजन की पहली जीत उद्घाटन मुकाबले में मिली थी। इसके बाद उसे 8 ड्रॉ और छह हार झेलनी पड़ी है। मैच का पहला हाफ पूरी तरह केरल के नाम रहा। सीटी बजने के साथ फ्रंट फुट पर दिखाई दे रही केरल की टीम ने इस हाफ में दो गोल किए। उसके लिए पहला गोल 16वें मिनट में स्लाविसा स्टोजानोविक ने पेनल्टी पर किया जबकि दूसरा गोल करेज पेकुसन ने 40वें मिनट में 30 गज की दूरी से एक झन्नाटेदार किक पर किया। यह इस सीजन के बेहतरीन गोलों में से एक हो सकता है। जवाबी हमला करते हुए बेंगलुरू की टीम ने 29वें मिनट में गोल कर दिया था लेकिन सुनील छेत्री के ऑफसाइड होने के कारण उसे नकार दिया गया। छेत्री के पास अपनी टीम का खाता खोलने का एक और मौका आया था लेकिन वह चूक गए। इन सबके बीच केरल की टीम 43वें मिनट में 3-0 के बिल्कुल करीब पहुंच गई थी लेकिन मातेज पोपलातनिक काफी करीब जाकर भी चूक गए।   मेजबान टीम ने दूसरे हाफ की आक्रामक शुरुआत की। उसने 47वें और 50वें मिनट में दो हमले किए लेकिन वे नाकाम रहे। इन हमलों के केंद्र में उदांता सिंह और कप्तान छेत्री रहे। बेंगलुरू ने 55वें मिनट में एक बड़ा हमला किया लेकिन भारत की अंडर-17 टीम के सदस्य रहे धीरज कुमार ने अच्छा बचाव करते हुए इस हमले को नाकाम कर दिया।

इसके बाद छेत्री ने 64वें मिले कार्नर पर एक अच्छा हेडर लिया, जिसे रोकने के प्रयास में धीरज लडख़ड़ा गए। हालांकि सभलते हुए उन्होंने गेंद को गोललाइन पर रोक दिया। उदांता और छेत्री लगातार दबाव बना रहे थे और इस क्रम में उसे 69वें मिनट में सफलता मिल गई। एरिक पार्टालू के क्रास पर छेत्री ने हेडर के जरिए उदांता को सटीक पास दिया, जिस पर गोल करते हुए उदांता ने अपनी टीम का खाता खोल दिया। 77वें मिनट में बेंगलुरू बराबरी का गोल करने के करीब था लेकिन खाबरा और छेत्री द्वारा बनाए गए मूव पर जिस्को गोल नहीं कर सके। बेंगुलरू को हालांकि 80वें मिनट में एक बड़े खतरे से गुजरना पड़ा क्योंकि 15 गज से लिया गया पोपलातनिक का शॉट बार से टकराकर लौट गया। मेजबान टीम इससे विचलित नहीं हुई और 85वें मिनट में गोल करते हुए अपनी हार टालने में सफल रही। यह गोल छेत्री ने खाबरा और उदांता द्वारा बनाए गए मूव पर हेडर के जरिए किया। बेंगलुरू को इस सीजन में सिर्फ एक हार मिली है। यह उसका तीसरा ड्रॉ है।

About Akhilesh Dubey

Akhilesh Dubey

Check Also

Chennai Open ATP: प्रजनेश और मुकुंद हारे, भारतीय चुनौती हुई समाप्त

चेन्नई: ऑस्ट्रेलियन ओपन के ग्रैंड स्लेम के मुख्य दौर में पहुंचने वाले प्रजनेश गुणेश्वरन और शशि कुमार …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *