Thursday , February 27 2020
Breaking News
Home / सिवनी / बरमान मेले के शुभारंभ कार्यक्रम में गूंजा अवैध खनन का मुद्दा

बरमान मेले के शुभारंभ कार्यक्रम में गूंजा अवैध खनन का मुद्दा

विधायक श्रीमती सुनीता पटैल ने प्रशासन की कार्यप्रणाली पर उठाये सवाल

राष्ट्र चंडिका नरसिंहपुर – प्रदेश में एक और जहां खनन माफिया भू माफिया सहित अन्य अवैध धंधों के खिलाफ माफिया दमन दल गठित कर ताबड़तोड़ कार्रवाई की जा रही हैं और उसके उलट नरसिंहपुर जिले में अवैध खनन ,भू माफिया सहित अन्य किसी भी प्रकार के माफियाओं पर कार्यवाही न किए जाने और प्रदेश सरकार की मंशा के अनुरूप अधिकारियों पर कार्य न किए जाने को लेकर प्रशासनिक कार्यप्रणाली पर भी सवाल उठाए जाने लगे हैं । और इस बात की बानगी गत दिवस देखने को मिली नर्मदा तट पर भरने वाले बरमान घाट के मेले के शुभारंभ अवसर पर जिसमें कि जिले की गाडरवारा विधायक श्रीमती सुनीता पटैल ने  खुले मंच से विधानसभा अध्यक्ष के मुख्य आतिथ्य सहित प्रदेश सरकार के दो मंत्रियों की मंचीय उपस्थिति से भरी सभा में यह बात कहकर सनसनी फैला दी कि उनके क्षेत्र में अवैध खनन बेरोकटोक जारी है और पुलिस के थाने के सामने से रेत भरे डंपर निकलते रहते हैं किंतु पुलिस उन्हें पकड़ने में नाकाम है आरोपों की झड़ी लगाते हुए विधायक सुनीता पटेल ने तो यह तक कह दिया कि उन्हें टिकट भी मां नर्मदा के आशीर्वाद से मिली हुई है  अगर उन्हें अपने चुनाव पूर्व ली गई अवैध खनन रोकने की शपथ को पूर्ण करने में जरा भी परेशानी हुई तो वह अपना त्यागपत्र नर्मदा मैया की गोद में रख देंगी, नरसिंहपुर जिले में अपनी विशिष्ट जन हितैषी और जनकल्याणकारी कार्यों के प्रति आम जनता के मन में विश्वास जगाने वाली जननेत्री श्रीमती सुनीता पटैल की नर्मदा तट पर भरी सभा मे सख्त लहजे में अवैध खनन करने वालों के खिलाफ यह एक चेतावनी तो है ही साथ ही नरसिंहपुर जिले के प्रशासनिक अमले की कार्यप्रणाली की जिले के जनप्रतिनिधियों सहित प्रदेश सरकार के दो जिम्मेदार मंत्रियों के सामने कलई खोल कर रख दी,गाडरवारा विधानसभा क्षेत्र में अवैध खनन से किसी भी प्रकार की घटना होने का अंदेशा जताते हुए आने वाली 22 जनवरी से सड़कों पर संघर्ष की बात भी इस दौरान उन्होंने कही । अब देखना यह होगा कि आने वाले समय में जो अवैध खनन के खिलाफ कार्रवाई या हैं उनमें कितनी तेजी आती है या फिर वही ढुलमुल रवैया के चलते  जिले में मां नर्मदा सहित उसकी अन्य सहायक नदियों में जो बेरोकटोक अवैध खनन हो रहा है वह लगातार जारी रहेगा या इसपर कुछ रोक लगेगी । फिलहाल इतना तो तय है कि विधायक श्रीमती सुनीता पटैल ने बड़े ही भावुकता में जिला प्रशासन सहित सरकार के नुमाइंदों को भी यह बता दिया है कि वह जनता से जुड़े मुद्दों को लेकर कभी भी किसी भी तरह के समझौते से इंकार करती हैं और उनकी लड़ाई आम जनता के साथ और क्षेत्र की जनता के हितों से जुड़ी है । विधायक श्रीमती सुनीता पटैल के बरमान मेले के उद्धघाटन अवसर पर दिये उदबोधन का असर यह हुआ कि दूसरे ही दिन जिला कलेक्टर  दीपक सक्सेना, पुलिस अधीक्षक डॉ. गुरकरन सिंह द्वारा मंगलवार 14 जनवरी को गाडरवारा के मेहरागांव, मुआरघाट, संसारखेड़ा रेत घाट की खदानों का औचक निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान मुआरघाट निरीक्षण के दौरान श्री सौरभ राय के भंडारण स्थल से रेत खोदने वाली दो पॉकलेन मशीन जब्त की गई एवं थाना प्रभारी सांईखेड़ा को सुपुर्द की गई। भंडारण स्थल पर उक्त मशीन रखने की अनुमति नहीं थी।
निरीक्षण के दौरान कलेक्टर  ने राजस्व विभाग एवं खनिज विभाग के अधिकारियों को रेत के अवैध उत्खनन एवं परिवहन पर कार्यवाही करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि राजस्व अधिकारी एवं खनिज विभाग के अधिकारी सभी रेत खदानों का सीमांकन करना सुनिश्चित करेंगे।
पुलिस अधीक्षक डॉ. सिंह ने पुलिस अधिकारियों को संयुक्त रूप से राजस्व अधिकारियों के साथ रेत खदानों की मुस्तैदी से निगरानी रखने के निर्देश दिये।
निरीक्षण के दौरान एसडीएम गाडरवारा श्री राजेश शाह, जिला खनिज अधिकारी श्री रमेश पटैल सहित पटवारी मौजूद थे। निरीक्षण में बैरागढ़, तूमड़ा, अजंदा रेत खदानों का भी एसडीएम एवं जिला खनिज अधिकारी ने निरीक्षण किया। इस निरीक्षण के दौरान मेहरागांव में पटवारी डेविड टिर्की द्वारा खदान का सीमांकन किया जाना था, किंतु वह उक्त रिकॉर्ड लेकर बिना सूचना के मौके पर अनुपस्थित पाया गया। उनके द्वारा मौके पर लाल स्याही से बंटाकन उठाना था, जो उनके द्वारा नहीं किया गया, जिसके कारण रेत खदान पर विवाद की स्थिति निर्मित हुई थी और इस कार्य में लापरवाही किये जाने पर कलेक्टर सक्सेना ने पटवारी  टिर्की को निलंबित करने के निर्देश दिये । रेत के अवैध खनन को लेकर सत्ता पक्ष कांग्रेस  विधायक के इस बयान को लेकर जिले सहित प्रदेश की राजनीति भी गर्मा गई पर अवैध रेत खनन को लेकर नरसिंहपुर जिले में सत्ता पक्ष के विधायक के रूप में बयान देने का यह पहला मामला नहीं है,पूर्ववर्ती भाजपा सरकार के शासनकाल में जिले के तत्कालीन भाजपा विधायकों के द्वारा भी सट्टा ,जुंआ सहित अवैध रेत खनन को लेकर इस तरह की बात  की जाती रही हैं ।

About Akhilesh Dubey

Check Also

Watch “इंद्रधनुष का कार्यक्रम सिवनी के गजल गारो एवं गायकों की अनुपम प्रस्तुति” on YouTube

Share on: WhatsApp

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *