Breaking News

ब्रहम समाज का अध्यक्ष चयन मतदान से हो।

राष्ट्र चंडिका सिवनी. कुछ दिनों पूर्व ब्राह्मण समाज के कुछ कॉलोनाइजर द्वारा निर्मित भवन में ब्राह्मण समाज की एक बैठक रखी गई। जिस बैठक में पहले से यह तय किया गया था कि मतदान के पश्चात ब्राह्मण समाज का अध्यक्ष तय किया जाएगा किंतु इस सब के उलट तथाकथित सर्वसम्मति से सिवनी जिले की ब्राह्मण समाज का अध्यक्ष ओपी तिवारी को चुन लिया गया। यहां यह उल्लेखनीय है कि पूर्व में ब्राह्मण समाज के लोगों की सदस्यता का अभियान चलाया गया था इन सदस्यों को मतदान के द्वारा अपने समाज का अध्यक्ष चुना था, हालांकि यहां भी एक विडंबना है कि जिन लोगों ने समाज की सदस्यता हेतु पैसे दिए थे वहीं मतदान कर सकते थे। सिवनी का केवल मात्र एक ऐसा ब्राह्मण समाज होगा जहां पैसे देकर मतदान का अधिकार प्राप्त किया जा सकता है। तब भी सर्व सम्मति का नाम लेकर इसकी टोपी उसके सर कर दी गई, पूर्व में सिवनी जिला ब्राह्मण समाज के अध्यक्ष पंडित महेश प्रसाद तिवारी हुआ करते थे तब श्री ओपी तिवारी उनके महासचिव के रूप में जिला ब्राह्मण समाज की कमान संभालते थे। अब पंडित महेश प्रसाद तिवारी जी ने अपनी पगड़ी अपने महासचिव ओपी तिवारी को पहना दिए मतलब कहीं से भी निष्पक्षता का प्रश्न ही नहीं उठता।
       यहां प्रश्न यह है कि आखिर क्यों नहीं छोड़ना चाहते युवाओं के हाथ में है समाज को? आखिर कब तक कब्जा जमाए बैठे रहेंगे विवादित लोग? इनका कहीं बड़े गोलमाल तो नहीं है? आखिर क्यों डर रहे हैं यह लोग समाज में मतदान कराने से? गत वर्ष भी ऐसे ही मतदान के नाम पर एक बैठक का आयोजन परशुराम भवन में किया गया था मगर उसे कुछ समय के लिए बढ़ा दिया गया था और सदस्यता अभियान और चुनाव तैयारियों की बात को सामने रखी गई थी। अगर इन्होंने समाज के नाम से भवन बनाया है एवं कॉलोनी तैयार की है तो क्या अपने पास के पैसे से किया है ज्ञात हो इन सब चीजों के लिए  समाज के लोगों से बकायदा सहयोग मांगा गया था और तो और सांसद निधि व विधायक निधि भी समाज को प्राप्त हुई है। समाज के यह पद के भूखे लोग यह बताते हैं कि हम लोगों के रहते यह सब भवन एवं कॉलोनी बनाई गई है।
मजे की बात तो यह है कि जब यह सीना ठोक के कहते हैं कि हमने यह पूरा कॉलोनी व भवन बनवाया है ऐसा लगता है कि जैसे इन्होंने अपने घर के पैसे से यह निर्माण कार्य किए हैं।
साप्ताहिक  राष्ट्र चंडिका  समाचार पत्र ने अनेकों बार समाज में चल रहे ऐसे अनेकों धराशाही को अनेकों बार अपने समाचार पत्र में समाज के साथ साथ लोगों के सामने भी रखा है। जिससे यह पद के भूखे लोग समाचार पत्र एवं संपादक को अपनी बैठकों में भला बुरा भी कहते थे। मगर हमें उससे कोई परवाह नहीं हम तो ऐसे लोगों की करतूत हमेशा सामने निडरता के साथ और निष्पक्ष के साथ लोगों को अवगत करा रहे थे। वर्ष 2015 में 10 से 15 मई के अंक में राष्ट्र चंडिका समाचार पत्र में समाचार शीर्षक ” तिकड़ी ने ब्राह्मण समाज को बना लिया प्राइवेट लिमिटेड कंपनी” से समाचार प्रकाशित किया गया था, जो आज सत्य प्रतीत होता नजर आ रहा है। अब देखना यह है कि आने वाला समय में युवा आगे आते हैं या फिर पुराने लोग ही समाज में अपनी धरा शाही चलाते हैं।
ब्राह्मण समाज इस पूरे  मानव समाज का मुखिया माना जाता है जहां पर निर्वाचन को लेकर के यह प्रक्रिया अपनाया जाना पूर्णता अनुचित है और इसका भारी विरोध भी ब्राह्मण समाज खासकर युवा वर्ग में देखा जा रहा है। समाज को अगर आगामी समय में रचनात्मक कार्य, सृजनात्मक कार्य करने तो उन्हें स्पष्ट रूप से निष्पक्ष मतदान की प्रक्रिया अपनाकर अपने अध्यक्ष का चयन किया जाना ही उचित होगा। परम पूज्य द्विय पीठाधीश्वर जगद्गुरु शंकराचार्य  महाराज स्वामी स्वरूपानंद जी सरस्वती का आशीर्वाद भी ब्राह्मण समाज को इस निष्पक्ष मतदान प्रक्रिया से अध्यक्ष चुने जाने में प्राप्त होगा।

About Akhilesh Dubey

Akhilesh Dubey

Check Also

पुलिस विभाग कर रहा है निर्वाचन आयोग को गुमराह

राष्ट्र चंडिका सिवनी .विगत वर्ष संपन्न हुए विधानसभा चुनावों में मतदान केंद्र क्रमांक 273 में …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *