Breaking News

जंगल में बकरी चराने गया युवक, बाघ के हमले में बाल-बाल बचा

भोपाल: समरधा रेंज में बुधवार सुबह करीब साढ़े दस बजे भेड़-बकरी चराने घने जंगल मे पहुंचे एक किशोर पर टाइगर ने हमला कर दिया। इस हमले में किशोर के शरीर पर गहरे घाव आए हैं। घायल को वन अमला जेपी अस्पताल लेकर पहुंचा। जहां प्राथमिक उपचार के बाद उसे अस्पताल में भर्ती कर लिया है। घायल की हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है। वही सूचना मिलने पर भोपाल सीसीएफ, डीएफओ, एसडीओ, रेंजर सहित बड़ी तादात में वन अमला अस्पताल पहुंच गया। घायल का वन विभाग अपने खर्च पर उपचार करवा रहा है साथ ही उसके परिवार को सहायता राशि उपलब्घ करा दी गई है।

जानकारी के अनुसार, घटना रातिबाड़ा थाना क्षेत्र की है जहां गांव केकड़िया का 17 वर्षीय सुनील चौहान भिलाला पुत्र बहादुर चौहान बुधवार को मादा बाघ का शिकार बनते बनते बचा। घायल के अनुसार, वह अपने 4 अन्य साथियों के साथ घर से बकरियां चराने भानपुर सर्किल की चीचली बीट के जंगल मे गया था। इसी दौरान वह लोग बाघिन 124 के मूवमेंट इलाके में पहुंच गए। वह अपनी गुफा से कुछ ही दूर एक चट्टान के पीछे बैठकर आराम कर रही थी तभी उसकी नजर बकरी चरा रहे युवकों पर पड़ी।

बाघिन ने पहले तो डराने के लिए दहाड़ लगाई और युवकों की झुंड में सबसे आगे चल रहे सुनील पर हमला कर दिया। बाघिन ने उसपर 3-4 बार हमला किया और युवक को उससे बचने में 10-15 मिनट का समय लगा। इस दौरान सुनील और उसके 4 साथी ज़ोर- ज़ोर से चिल्लाकर संघर्ष करते रहे। जिससे बाघिन वहां से लौट गई और सुनील की जान बच गई। इस हमले में सुनील के दाएं हाथ और दाई जांघ में बाघिन के दांतों से गहरी चोट आई और बाई जांघ में भी हल्की घायल हुई है।

About Akhilesh Dubey

Akhilesh Dubey

Check Also

‘मालेगांव ब्लास्ट’ के सहआरोपी ने भी की साध्वी प्रज्ञा के बयान की निंदा

भोपाल: शहीद एटीएस चीफ हेमंत करकरे पर विवादित टिप्पणी देने के बाद साध्वी प्रज्ञा विवादों में …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *