Breaking News

लोकतंत्र की लड़ाई में जीत के लिए नेताओं से ज्यादा सितारों पर भरोसा

लोकतंत्र की लड़ाई और खेल जगत की हस्तियों के आगे राजनीतिक पाॢटयों के नेता फीके पड़ गए हैं। राजनीतिक दल चुनावी जंग जीतने के लिए अपने नेताओं से ज्यादा ग्लैमर की दुनिया से जुड़े सितारों पर भरोसा करते हुए उन्हें टिकट बांटने में तरजीह दे रहे हैं। भाजपा ने मंगलवार को पार्टी में शामिल होते ही अभिनेता सन्नी देओल को गुरदासपुर से टिकट दे दिया। क्रिकेटर गौतम गंभीर को पूर्वी दिल्ली से चुनाव लड़ाने के लिए सांसद महेश गिरि का टिकट कटा तो उत्तर पश्चिम दिल्ली से उदित राज का टिकट काटकर गायक हंसराज हंस को दे दिया गया। पार्टी ने रवि किशन को गोरखपुर और भोजपुरी गायक निरहुआ को आजमगढ़ से उतारा है, जबकि कांग्रेस पहले ही मुम्बई से उर्मिला मातोंडकर और दक्षिण दिल्ली से मुक्केबाज विजेंद्र सिंह को मैदान में उतार चुकी है।

गुरदासपुर पर भाजपा का रहा है कब्जा, अब सन्नी दिखाएंगे दम 
भाजपा ने मंगलवार को गुरदासपुर लोकसभा सीट से फिल्म स्टार सन्नी देओल को अपना उम्मीदवार बनाया है। सन्नी मंगलवार को ही पार्टी में शामिल हुए हैं। इसके अलावा पार्टी ने चंडीगढ़ सीट से निवर्तमान सांसद किरण खेर को फिर से टिकट दिया है। होशियारपुर से सोमप्रकाश को मैदान में उतारा गया है। केंद्रीय मंत्री विजय सांपला का टिकट कट गया है। गुरदासुपर सीट पर मरहूम अभिनेता और केंद्रीय मंत्री विनोद खन्ना का कब्जा रहा था। विनोद खन्ना गुरदासपुर से चार बार सांसद रहे थे। सन्नी के पिता धर्मेंद्र 2004 में बीकानेर से भाजपा के टिकट पर चुनाव जीते थे। फिल्म अभिनेत्री हेमामालिनी 2014 में मथुरा से भाजपा की टिकट पर सांसद चुनी गई थीं। इस बार भी भाजपा ने उन्हें मथुरा से उम्मीदवार बनाया है।

क्षेत्रीय दल भी नहीं रहे पीछे 
क्षेत्रीय पाॢटयों में भी सितारों को शामिल करने की होड़ लगी हुई है। टी.एम.सी. ने सांसद इदरीस अली की जगह बशीरहाट से अभिनेत्री नुसरत जहां और आसनसोल से मुनमुन सेन को उतारा है। वहीं, सपा ने शत्रुघ्न सिन्हा की पत्नी पूनम सिन्हा को लखनऊ से टिकट दिया है।

लोगों की नब्ज पहचानते हैं सन्नी 
रक्षामंत्री सीतारमण ने कहा, ‘‘जैसे ही हमें पता चला कि वह पार्टी में शामिल हो रहे हैं…मैं उनकी फिल्म ‘बॉर्डर’ से स्वयं को जोड़ पाई। इस फिल्म के बाद इस विषय का भारतीय दर्शकों पर असर साबित हो गया था…राष्ट्रवाद और देशभक्ति की भावना को जब फिल्म में इतनी खूबसूरती से दिखाया जाता है तो यह भारतीय नागरिकों के दिल को छू जाती है।’’ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के एजैंडा में सीमाओं के मुद्दे शीर्ष पर हैं। उन्होंने कहा कि सन्नी लोगों की नब्ज पहचानते हैं और वह प्रधानमंत्री के कामों से प्रभावित हैं।

पारिवारिक रिश्ता: गोयल
पीयूष गोयल ने कहा कि देओल के साथ एक पारिवारिक रिश्ता राजनीतिक रिश्ते में भी बदल रहा है। उनके पिता धर्मेंद्र लोकसभा के सांसद रहे हैं और उनकी प्रतिबद्धता भाजपा के साथ बहुत गहरी थी। 2008 में संसद में एक महत्वपूर्ण विषय पर मतदान के लिए वह अमरीका के अस्पताल से छुट्टी लेकर दिल्ली आए थे और वोट डाल कर इलाज के लिए अमरीका लौट गए थे।

About SMC

Check Also

सोशल मीडिया की रानी-स्मृति ईरानी

नई दिल्ली: मोदी की जीत का डंका तो सोशल मीडिया पर सारा दिन बजता ही …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *