Breaking News

तो क्या नगर पालिका की बिना अनुमति चल रहा ट्रेड फेयर

पालिका कर्मचारियों को मिल रहे हैं  ट्रेड फेयर के पास

पालिका के अधिकारी ले रहे जमकर डिस्काउंट

सिवनी राष्ट्र चंडिका। गर्मी के मौसम में सर्किट हाऊस के सामने वाले मैदान पर लगी प्रदर्शनी (ट्रेड फेयर) में भीड़ भाड़ के चलते अगर यहाँ कोई दुर्घटना घटित हो जाये तो इससे निपटने के लिये प्रदर्शनी संचालकों के पास किसी तरह की कोई व्यवस्था नहीं है। लाभ कमाने की गरज से प्रदर्शनी संचालकों के द्वारा सरकारी नियम कायदों को बलाए ताक पर रख दिया गया है। ज्ञातव्य है कि इस साल जनवरी माह में इसी स्थान पर एक प्रदर्शनी का आयोजन किया जाना प्रस्तावित था। बताया जाता है कि उस समय प्रदर्शनी के संचालक को सुरक्षा कारणों, पार्किंग के अभाव आदि के चलते अनुमति देने में प्रशासन के द्वारा आनाकानी की जा रही थी। बताया जाता है कि इस प्रदर्शनी के आयोजकों के द्वारा जो सुरक्षाकर्मी तैनात किये गये हैं, वे वेषभूशा तो सुरक्षा कर्मियों की पहने दिखते हैं पर वे किस पंजीकृत सुरक्षा एजेंसी के कर्मचारी हैं यह बात शोध का ही विषय मानी जा सकती है। नियमानुसार इस प्रदर्शनी में स्टॉल लगाने वालों को कोतवाली में अपनी मुसाफिरी दर्ज कराना चाहिये था। बताया जाता है कि इस प्रदर्शनी के आयोजकों के द्वारा जो सुरक्षाकर्मी तैनात किये गये हैं, वे वेषभूशा तो सुरक्षा कर्मियों की पहने दिखते हैं पर वे किस पंजीकृत सुरक्षा एजेंसी के कर्मचारी हैं यह बात शोध का ही विषय मानी जा सकती है। नियमानुसार इस प्रदर्शनी में स्टॉल लगाने वालों को कोतवाली में अपनी मुसाफिरी दर्ज कराना चाहिये था। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार शाम ढलते ही प्रदर्शनी के आसपास शोहदे नुमा असामाजिक तत्वों का जमघट लगने लगता है। इस तरह की प्रदर्शनी वैसे महिलाओं के लिये आकर्षण का केंद्र होती हैं, पर यहाँ असामाजिक तत्वों के जमघट के कारण महिलाएं यहाँ जाकर असहज ही महसूस कर रहीं हैं। इसके अलावा आकस्मिक स्थितियों से निपटने के लिये प्रदर्शनी संचालकों के द्वारा किसी तरह की कोई व्यवस्थाएं नहीं की गयी हैं। यहाँ तक कि आग लगने की स्थिति में आग बुझाने के लिये फायर एक्सटेंग्यूशर एवं प्राथमिक चिकित्सा के लिये भी किसी तरह की व्यवस्थाएं नहीं की गयी हैं। जिला प्रशासन, पुलिस प्रशासन, नगर पालिका और स्वास्थ्य विभाग से जनापेक्षा है कि इस तरह भीड़भाड़ वाले स्थान पर मुकम्मल व्यवस्थाएं सुनिश्चित करवायी जायें। इस संबंध में जब नगर पालिका के मुख्य अधिकारी से चर्चा की गई तो उन्होंने कहा कि उनके पदभार ग्रहण करने के बाद से इस तरह की कोई अनुमति नहीं ली गई है हो सकता है पदभार ग्रहण करने से पूर्व अनुमति दी गई हो मैं फाइल दिखाता हूं. चर्चाएं तो यह भी है इस मेले के पास नगर पालिका व सरकारी कर्मचारियों को दिए गए हैं जिसे मेले में दिखाने उन्हें अच्छा खासा डिस्काउंट भी मिल रहे हैं. इसी के चलते इस मेले पर अनुमति है क्या नहीं कोई जांच नहीं हो रही है.

About Akhilesh Dubey

Check Also

मेगा ट्रेड के बाहरी व्यापारियों ने नहीं कराया मुसाफिरी दर्ज

माने तो मेगा ट्रेड फेयर के संचालक अपने आपको उच्च स्तरीय एप्रोच वाला समझते हैं …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *