Breaking News

जेट एयरवेज पर एक और संकट, कंपनी के CFO अमित अग्रवाल ने दिया इस्तीफा

मुंबईः वित्तीय समस्याओं के चलते अस्थाई रूप से बंद हुई जेट एयरलाइंस के डेप्युटी चीफ एग्जिक्यूटिव और चीफ फाइनैंशल ऑफिसर अमित अग्रवाल ने मंगलवार को इस्तीफा दे दिया। उन्होंने कहा, ‘मैं सूचित करना चाहता हूं कि मैं व्यक्तिगत कारणों से अपनी सेवाओं से त्यागपत्र दे रहा हूं।’

बता दें कि अप्रैल से ही जेट एयरवेज का संचालन बंद हो गया है। कई महीनों से पायलट और अन्य कर्मचारियों की सैलरी न दे पाने की वजह से भी एयरलाइन लंबे समय से संकट में घिरी थी। जेट एयरवेज के बंद होने की वजह से हजारों कर्मचारियों को नौकरी गंवानी पड़ी। जेट की हिस्सेदारी खरीदने से भी कंपनियां परहेज कर रही हैं। हालांकि जेट के ही अंतरराष्ट्रीय सहयोगी एतिहाद ने हिस्सेदारी खरीदने की इच्छा जताई है।

एतिहाद ने कहा है कि वह जेट में 1700 करोड़ रुपए का निवेश कर सकती है। एतिहाद ने जेट की उधारी चुकाने के बारे में कोई वादा नहीं किया है। पिछले शुक्रवार को जेट के लिए बोली लगाने की समयसीमा खत्म हो गई और तब तक सिर्फ एतिहाद ने ही बोली लगाई थी। उसने डेडलाइन खत्म होने से कुछ मिनट पहले ही बोली सौंपी थी। उसके अलावा जेट की खातिर नेशनल इनवेस्टमेंट एंड इंफ्रास्ट्रक्चर फंड (एनआईआईएफ), टीपीजी कैपिटल और इंडिगो पार्टनर्स को चुना गया है।

जेट को अभी कम से कम 15,000 करोड़ के निवेश की जरूरत है। जेट एयरवेज को बैंकों ने भी मदद देने से हाथ खड़े कर दिए थे। जेट को कर्ज देने वाले बैंकों में से एक के अधिकारी ने बताया कि अगर यह तफ्तीश मुकम्मल जांच में बदलती है तो किसी वनटाइम डेट सेटलमेंट की संभावना खत्म हो सकती है या उसमें देरी हो सकती है। जेट पर कुल 8,500 करोड़ का कर्ज है।

About Akhilesh Dubey

Check Also

नासिक के सीएटीएस से 34 अधिकारियों ने पूरा किया विमानन पाठ्यक्रम

महाराष्ट्र में नासिक स्थित ‘कॉम्बैट आर्मी एविएशन स्कूल’ में अपना पाठ्यक्रम सफलतापूर्वक पूरा करने के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *