Breaking News

ऐप्पल-सैमसंग पर पुराने फोन जानबूझकर धीमे करने का आरोप, 124 करोड़ रुपए का जुर्माना

इटली की कंज्यूमर अथॉरिटी, इतावली प्रतिस्पर्धा प्राधिकरण (एजीसीएम) ने ऐप्पल और सैमसंग दोनों को सॉफ्टवेयर जारी करने पर कुल 124 करोड़ रुपए का जुर्माना लगाया है। दोनों कंपनियों पर सॉफ्टवेयर अपडेट के बहाने जानबूझ कर ग्राहकों के फोन को धीमा करने और उसकी कार्यप्रणाली को बिगाड़ने का आरोप है ताकि वही ग्राहक फिर से नया फोन खरीदें। अथॉरिटी ने ऐप्पल पर 10 और सैमसंग पर 5 मिलियन यूरो का जुर्माना लगाया है।

क्या है मामला

  • एेप्पल ने सितंबर 2016 से अपने आईफोन-6 के यूजर्स को  सॉफ्टवेयर अपडेट की नोटिफिकेशन भेजी।
  • एेप्पल ने जानबूझकर अपने ग्राहकों को आईफोन की बैटरी से संबंधित महत्वपूर्ण जानकारी नहीं दी, जिससे सॉफ्टवेयर को अपडेट करने के बाद उनके फोन की स्पीड कम हो गई और हैंग होने लगा।
  • कंपनी ने पिछले साल सॉफ्टवेयर अपडेट बाद आईफोन आईफोन स्लो होने के कारण यूजर्स से माफी मांगी थी। हालांकि बाद में कंपनी ने बैटरी बदले जाने की लागत कम कर दी थी।
  • इसके अलावा, ऐप्पल ने उपभोक्ता संहिता के अनुच्छेद 22 का भी उल्लंघन किया। इसलिए ए.जी.सी.एम. ने ऐप्पल पर 10 मिलियन यूरो (प्रत्येक उल्लंघन के लिए 5 मिलियन) पर जुर्माना लगाया गया है।

सैमसंग के उल्लंघन में नोट 4 शामिल है

  • सैमसंग ने गैलेक्सी नोट-4 के यूजर्स को ऑपरेटिंग सिस्टम को अपडेट करने के लिए कहा। एंड्रॉयड का नया वर्जन इंस्टॉल करते ही यूजर्स के फोन स्लो हो गए।
  • कंपनी ने इस मुद्दे पर सफाई देते हुए कहा है कि वह इटली के इस फैसले से निराश है। कंपनी ने गैलेक्सी नोट-4 के यूजर्स को बेस्ट एक्सपीरियंस देने के लिए ही सॉफ्टवेयर अपडेट जारी किया था। उनका इरादा परफॉर्मेंस घटाने का नहीं था।

About Akhilesh Dubey

Akhilesh Dubey

Check Also

Facebook में आया बग, 68 लाख यूजर्स की निजी तस्वीरों में लगी सेंध

सोशल मीडिया साइट फेसबुक में आए एक बग की वजह से करीब 68 लाख फेसबुक …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *