Wednesday , December 11 2019
Breaking News
Home / मध्यप्रदेश / ग्वालियर / उमा भारती का पलटवार- ठीक बोल रहे हैं दिग्विजय सिंह-बापू के क़ातिल अभी ज़िंदा हैं

उमा भारती का पलटवार- ठीक बोल रहे हैं दिग्विजय सिंह-बापू के क़ातिल अभी ज़िंदा हैं

ग्वालियर: राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को लेकर बीजेपी कांग्रेस आमने सामने आ गई है। कांग्रेस के पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह द्वारा दिए बयान को लेकर भाजपा की केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने पलटवार किया है। पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी की प्रथम पुण्य तिथि पर ग्वालियर पहुंची उमा भारती ने कहा कि, ‘जिस व्यक्ति ने ये कहा है कि बापू तेरे कातिल जिन्दा है। उसने सही कहा है’। मैं उस व्यक्ति का नाम भी नहीं लेना चाहती क्योंकि मेरे ही हाथों उसका राजनैतिक अंत हुआ है।

digvijaya singh

@digvijaya_28

“बापू हम शर्मिंदा हैं तेरे क़ातिल ज़िंदा हैं”
हे प्रभु इन भटके हुए क़ातिलों को सदबुद्धि दे। भारत सभी का है और सभी ने मिल कर इसे आज़ाद कराया है। “ईश्वर अल्लाह तेरे नाम सब को सम्मति दे भगवान”
यही रामधुन इस देश को बचा पायेगी।

महात्मा गॉंधी अमर रहें।

6,152 people are talking about this

उमा भारती ने दिग्विजय सिंह के ट्वीट पर कहा कि- दिग्विजय सिंह ठीक कह रहे हैं कि बापू के कातिल ज़िंदा हैं। बापू की असली कातिल कांग्रेस है। गोडसे ने तो बापू के शरीर को मारा था लेकिन कांग्रेस ने तो बापू की आत्मा को मारा है। बापू कांग्रेस खत्म करना चाहते थे। कांग्रेस जब तक भारत में रहेगी तब तक बापू के हत्यारे के रूप में कातिल कांग्रेस जिंदा रहेगी। उमा ने कांग्रेस पर बरसते हुए कहा कि मेरे हाथों दिग्विजय सिंह का राजनैतिक अंत हुआ है।

अटल बिहारी वाजपेयी को दी श्रद्धांजलि
उमा भारती पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की पुण्यतिथि कार्यक्रम में शामिल होने ग्वालियर आयी थीं। उन्होंने श्रद्धा से उन्हें याद करते हुए कहा- अटल जी मेरे पिता के समान थे। मैं उनको 8 साल की उम्र से बहुत परेशान करती थी। मैं उनसे हर बात के लिए जिद्द करती थी और वे मेरी हर  जिद्द पूरी भी करते थे। बावजूद इसके मैं उन्हें धन्यवाद भी नहीं कहती थी। लेकिन दुःख इस बात का है कि मैं उनसे माफ़ी नहीं मांग पाई। उमा भारती ने कहा आज अटल जी होते तो धारा 370 हटने पर वो सबसे ज्यादा खुश होते।

About Akhilesh Dubey

Check Also

इस हिंदू BJP नेता की कलाई पर सजती है मुस्लिम बहन की राखी, 42 साल से जारी है ये सिलसिला

ग्वालियर: मध्यप्रदेश में रक्षा बंधन की अनोखी मिसाल देखने को मिली है यहां एक कट्टर हिंदुवादी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *