Breaking News
Home / मध्यप्रदेश / इंदौर / दिग्विजय से मिलने के बाद तुलसी सिलावट बोले, मेरी आस्था सिर्फ सिंधिया में है

दिग्विजय से मिलने के बाद तुलसी सिलावट बोले, मेरी आस्था सिर्फ सिंधिया में है

इंदौर: कांग्रेस की राजनिति में ज्योतिरादित्य सिंधिया समर्थक मंत्री तुलसी सिलावट पर सिंधिया समर्थक विधायकों द्धारा ही आरोप लगाए जाने के बाद उन्होंंने पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह के साथ बंद कमरे में मुलाकात की थी। जिसके बाद से कई तरह के कयास लगाए जा रहे थे। बंद कमरे में हुई इस मुलाकात को लेकर मंत्री सिलावट ने सफाई देते हुए कहा कि उन्होंने पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह के साथ केवल चाय पी। उनकी आस्था तो ज्योतिरादित्य सिंधिया में है।
तुलसी सिलावट ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के साथ मैंने सिर्फ चाय पी, उनके साथ चाय पीने पर भी पाबंदी है क्या। मेरी आस्था सिर्फ ज्योतिरादित्य सिंधिया में है। आस्थाएं कभी नहीं बदलतीं, विश्वास कभी नहीं बदलता। तुलसी सिलावट ने कभी न पाला बदला है, न बदलेगा’।

सिलावट-जीतू के साथ दिग्विजय की गुई गोपनीय बैठक
गौरतलब है कि शनिवार को कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह ने स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट और उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी के साथ 20 मिनट तक बंद कमरे में मुलाकात की थी। श्री गोविंदराम सेकसरिया इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी एंड साइंस में स्वर्ण द्वार के शुभारंभ समारोह के बाद यह मुलाकात कॉलेज परिसर में ही हुई। इस बैठक में कांग्रेस के कार्यवाहक अध्यक्ष विनय बाकलीवाल भी पहुंचे थे। इस गोपनीय बैठक के बाद न तो पटवारी खुलकर बोले और न ही दिग्विजय सिंह ने कोई बात की। सिलावट ने  कहा कि वह केवल सामान्य रुप से मिलने आए थे, कोई विशेष चर्चा नहीं हुई। बता दें कि तुलसी सिलावट ज्योतिरादित्य सिंधिया खेमे के खास सिपहसलार है।

About Akhilesh Dubey

Check Also

इंदौर जिला न्यायालय की नई बिल्डिंग के विरोध में उतरे वकील

इंदौर: इंदौर में जिला न्यायालय के नवीन भवन को लेकर विवाद थमता नजर नहीं आ …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *