Breaking News
Home / राज्य / उत्तरप्रदेश / स्वामी चिन्मयानंद का छात्रा से तेल मालिश कराते नग्न वीडियो हुआ वायरल

स्वामी चिन्मयानंद का छात्रा से तेल मालिश कराते नग्न वीडियो हुआ वायरल

शाहजहांपुर: बीजेपी नेता व पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री रह चुके स्वामी चिन्मयानंद के पास दौलत, शोहरत, ताकत सब कुछ है तो भला उनके शौक क्यों नहीं निराले होंगे। दरअसल स्वामी को तेल लगवाने का अजीब शौक है वो भी महिलाओं से। लड़की हो तो और भी अच्छा है। बात जब तक सहमति से करने-कराने की होती है, तो कोई बात नहीं। पर अगर जिनसे तेल लगवाया जा रहा है, वह चिन्मयानंद के कालेज की छात्रा हो, साथ ही आरोप लगा रही हो कि चिन्मयानंद उस जैसी बहुत सी लड़कियों का जीवन बर्बाद कर चुके हैं, तो मामला गंभीर हो जाता है। 

तेल लगवाने का वीडियो हो रहा वायरल
चिन्मयानंद से जुड़े 12 से ज्यादा वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं। वीडियो में साफ दिख रहा है कि चिन्मयानंद एक युवती से मसाज करा रहे हैं। वीडियो में दर्ज तारीख और समय के अनुसार वह साल 2014 का है लेकिन बातचीत में 23 मई तक चुनाव आदर्श आचार संहिता का जिक्र आया है। जिससे यह साबित होता है कि, यह वीडियो इसी साल 2019 का है। इससे ये जाहिर हो रहा है कि जिस कैमरे से वीडियो बनाई गई है उसकी सेटिंग सही नहीं थी। 

युवती के चश्मे में लगे कैमरे से बनाई गई वीडियो 
वीडियो युवती के चश्मे में लगे कैमरे से बनाई गई है। छात्रा ने चश्मे वाले खुफिया कैमरे से वीडियो शूट किया है। जिस वक्त स्वामी चिन्मयानंद तेल लगवाते हुए पेट के बल लेट जाते हैं उस समय छात्रा काफी सहज होकर चश्मे से रिकार्ड करती है। वह कभी कभी चश्मे को निकाल कर दूर टेबल पर रख देती है ताकि फ्रेम में वह खुद भी आ सके। ज्यादातर वक्त छात्रा चश्मा पहने ही रहती है। यही वजह है कि जब वह वाशरूम जाती है तो आइने में उसका चेहरा उसका चश्मा रिकार्ड करता है। 

विधि की छात्रा ने चिन्मयानंद पर लगाया यौन शोषण का आरोप 
उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर की रहने वाली विधि की छात्रा ने चिन्मयानंद पर कथित यौन शोषण का आरोप लगाया है। पीड़िता का आरोप है कि स्वामी चिन्मयानंद उसका एक साल तक शोषण करते रहे। दिल्ली में चिन्यमयान्द के खिलाफ तहरीर देने के बाद शाहजहांपुर की पुलिस 376 में केस दर्ज नहीं कर रही है। आरोपी चिन्मयानंद को गिरफ्तार किया जाए। शाहजहांपुर के डीएम ने केस दर्ज करने से पहले पापा को धमकी दी थी। 

कई लड़कियां हो चुकी हैं शोषण की शिकार-पीड़िता 
पीड़ित छात्रा का आरोप है कि यूपी पुलिस के डर से दिल्ली में जीरो एफआईआर कराई थी। फेसबुक पर अपनी फैमिली की सुरक्षा के लिए वीडियो वायरल किया था। चिन्मयानंद से कई लड़कियां शोषण की शिकार हुई हैं। मैं अकेली निकल कर उनके खिलाफ आवाज उठाई है।

स्वामी बीजेपी के नेता हैं इसलिए पुलिस दबाव में काम कर रही-पीड़िता
जब मैं कॉलेज में एलएलएम का एडमिशन लेने गई तो मुझे चिन्मयानंद ने जॉब का ऑफर दिया गया था। उनके कहने पर प्रिंसिपल ने जॉब दिया। वहां प्रिंसिपल ने प्रशासनिक काम बहुत सा मुझ पर डाल दिया जिसके चलते हमने हॉस्टल में एक रूम लेकर डाल दिया था। उसके बाद उसके साथ बहुत गलत हुआ। स्वामी चिन्मयानंद बीजेपी के नेता हैं इसलिए पुलिस दबाव में काम कर रही है। वहीं चिन्मयानंद का नग्न वीडियो वायल होने के वावजूद अभी तक यहाँ की पुलिस और प्रसाशन की ओर से कोई भी स्वामी चिन्मयानंद के बारे में बोलने को तैयार नहीं है।

एसआईटी कर रही मामले की जांच
दरअसल, मंगलवार को चिन्मयानंद के आश्रम पहुंचे विशेष जांच दल(एसआईटी) ने वहां कई घंटों तक पूछताछ की। पुलिस ने बताया कि लॉ कॉलेज की छात्रा ने चिन्मयानंद पर यौन शोषण का आरोप लगाया है। इस मामले को लेकर  एसआईटी की टीम स्वामी के आश्रम पहुंची और छात्रा के हॉस्टल का कमरा खुलवाया। टीम ने छात्रा के कमरे की पड़ताल के बाद माहौल की जानकारी ली। टीम ने वहां कई घंटों तक पूछताछ की। एसआईटी टीम ने चिन्मयानंद के आश्रम में लगे सीसीटीवी कैमरे की रिकॉर्डिंग को अपने कब्जे में लिया है। साथ ही लॉ की छात्रा के हॉस्टल में बने कमरे से भी कई चीजों को बरामद किया है।

पहले भी लग चुके हैं स्वामी पर आरोप
इससे पहले भी स्वामी चिन्मयानंद पर आरोप लग चुके हैं। आठ साल पहले चिन्मयानंद की एक शिष्या ने उनके ऊपर बड़े गंभीर आरोप लगाए थे। उसने भी कहा था कि स्वामी जी शराब पीकर महिलाओं से तेल लगवाते हैं। ये मामला सुर्खियों में भी आया लेकिन अपने ताकत के बल पर स्वामी ने सब कुछ दबवा दिया।

क्या है पूरा मामला?
गौरतलब है कि लॉ कॉलेज की एक छात्रा ने स्वामी पर एक साल तक यौन शोषण करने और जान से मारने की धमकी देने के गंभीर आरोप लगाए थे। स्वामी चिन्मयानंद के खिलाफ छात्रा के अपहरण करने का मुकदमा भी दर्ज है। साथ ही स्वामी चिन्मयानंद की तरफ से भी 5 करोड़ की रंगदारी मांगने का मुकदमा भी दर्ज है। इस मामले में सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद एसआईटी की टीम गठित की गई है। जो पूरे मामले की जांच कर रही है।

About Akhilesh Dubey

Check Also

23 साल से चल रहा एक आंदोलन : विजय सिंह बोले- गलत हूं तो फांसी दे दो, सही हूं तो इंसाफ

मुजफ्फरनगर। दुनिया का सबसे लंबा धरना होने का रिकॉर्ड बना चुके मास्टर विजय सिंह को न्याय …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *