Wednesday , August 22 2018
Breaking News

जन आशीर्वाद यात्रा में सिवनी आने में असमंजस में है शिवराज ?

क्या  सिवनी में मुख्यमंत्री को विरोध का है भय?*
*क्यों नहीं की पूरी मंचों से की गई घोषणाएं*
*मीडिया भी दिखाना चाहती है हकीकत*
सिवनी राष्ट्र चंडिका। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के जन आशीर्वाद यात्रा के अंतर्गत सिवनी  आगमन को लेकर जहां भाजपा में उत्साह है लेकिन सूत्रों का कहना है कि मुख्यमंत्री सिवनी आना असमंजस में है। लोगों का कहना है मुख्यमंत्री सिवनी के लिए “ढपोल शंख” साबित हुए हैं क्योंकि ढपोल शंख की विशेषता होती है कि वह आश्वासन तो बहुत कुछ देते हैं मगर करते कुछ नहीं यही स्थिति सिवनी जिले की बनी हुई हैं।
          सूत्रों का कहना है कि शिवराज सिंह चौहान ने विगत 10 वर्षों में सिवनी वासियों को आश्वासन के बलबूते इतने अधिक सब्जबाग दिखाएं लेकिन एक भी पूरा नहीं किया उदाहरण के तौर पर फोरलेन मार्ग निर्माण, आकाशवाणी केंद्र की स्थापना,कृषि महा विश्वविद्यालय की स्थापना,अटल टिकरिगं लेब,क्रिकेट ग्राउंड की घोषणा सहित मेडिकल कॉलेज का कार्य प्रारंभ करने वाली घोषणा की थी लेकिन आज तक उस पर कोई कार्य प्रारंभ नहीं किया गया है।
      जनता का कहना है कि भोजन बोलने से पेट नहीं भरता पेट भरने के लिए भोजन करना पड़ता है।(विश्वसनीय सूत्रों का कहना है कि) जो मुख्यमंत्री सिवनी निवासियों से छल कर रहे हैं उन्हें हमारे जिले में घुसने का कोई अधिकार नहीं अगर वह सिवनी आते हैं तो हम उन्हें काले झंडे दिखाएंगे तथा उनसे इस बात का जवाब मांगेंगे कि आखिर तुमने हमारे साथ छलावा क्यों किया है।
      ज्ञात होवे  कि पिछले बार पूर्व केंद्रीय मंत्री कमलनाथ के सिवनी आगमन के दौरान लोगों ने काले गुब्बारे छोड़े थे तथा उनका विरोध किया था उस घटना का बदला लेने के लिए कुछ विपक्ष के लोग मुख्यमंत्री के विरोध में कार्यक्रम स्थल पर काले गुब्बारे छोड़ने तथा काले झंडे के माध्यम उनकी इस यात्रा का विरोध करेंगे।हो सकता है कि मुख्यमंत्री के विरोध की खबर उनके आकाओं ने मुख्यमंत्री तक पहुंचाती है इसीलिए मुख्यमंत्री जी अपना सिवनी प्रवास आने में असमंजस की स्थिति में है?
            राजनीतिक सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार मुख्यमंत्री के आने पर विपक्ष द्वारा किए जाने वाले विरोध का कवरेज के लिए राष्ट्रीय चैनल भी उत्सुक नजर आ रहा है और शिवराज जी आए अथवा ना आए मगर सिवनी की हकीकत सामने जरूर आएगी और हो सकता है कि अगर हकीकत सामने आई तो भाजपा के लिए सबकुछ शुभ शुभ नहीं होगा।

About Akhilesh Dubey

Akhilesh Dubey

Check Also

अटल बिहारी बाजपेयी को दी श्रृद्धांजली

Share this on WhatsAppराष्ट्र चंडिका सिवनी। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर सेंट …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *