Breaking News
Home / मध्यप्रदेश / मॉब लिचिंग पर बोले थरूर-एक चुनाव के नतीजे ने क्या दे दिया किसी की भी हत्या का हक

मॉब लिचिंग पर बोले थरूर-एक चुनाव के नतीजे ने क्या दे दिया किसी की भी हत्या का हक

पुणे(महाराष्ट्र): कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शशि थरूर ने रविवार को कहा कि प्रधानमंत्री जब भारत के प्रतिनिधि के तौर पर विदेश यात्रा करते हैं, उस वक्त वह सम्मान पाने के हकदार होते हैं। लेकिन जब वह (प्रधानमंत्री) देश में होते हैं, तब लोगों को उनसे सवाल करने का अधिकार है। थरूर ने मॉब लिंचिंग की कड़ी आलोचना करते हुए कहा कि पिछले 6 साल में हम क्या देख रहे हैं? मोहसिन शेख नाम के शख्स की हत्या के साथ ये सिलसिला शुरु हुआ है, इसके बाद मोहम्मद अखलाक को मार दिया गया और कहा गया कि उसके पास बीफ था, लेकिन बाद में ये बात सामने आई कि उसके पास बीफ नहीं था, अगर ये बीफ था भी तो उसे मारने की इजाजत इन लोगों को किसने दी थी। थरूर ने कहा कि पहलू खान के पास गाय को ले जाने का लाइसेंस था, लेकिन उसे भी भीड़ ने मार दिया, क्या चुनाव के एक नतीजे ने इन लोगों को इतनी ताकत दे दी है कि वे कुछ भी कर सकते हैं, किसी को भी मार सकते हैं?

पीएम से सवाल पूछना हमारा अधिकार
देश की एक भाषा (हिंदी) होने संबंधी विवाद पर केरल से लोकसभा सदस्य ने कहा कि वह त्रि-भाषा फार्मूला (बहुभाषी संचार क्षमताओं को बढ़ावा देने) के पक्ष में हैं। उन्होंने महाराष्ट्र के पुणे जिले में ऑल इंडिया प्रोफेशनल कांग्रेस द्वारा आयोजित एक सत्र में यह बात कही। थरूर ने कहा कि प्रधानमंत्री विदेशों में सम्मान पाने के हकदार हैं क्योंकि (वहां) वह हमारे राष्ट्र के प्रतिनिधि होते हैं। लेकिन जब वह भारत में होते हैं, हमें उनसे सवाल करने का अधिकार है। देश की एक भाषा होने के मुद्दे पर उन्होंने कहा कि ‘‘हिंदी, हिंदुत्व और हिन्दुस्तान” को बढ़ावा देने की भाजपा की विचारधारा देश के लिए खतरनाक है। उन्होंने कहा कि हमें त्रि-भाषा फार्मूले को आगे बढ़ाने की जरूरत है।

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने देश की एक भाषा होने संबंधी अपनी टिप्प्णी से पैदा हुई बहस के बीच बुधवार को कहा था कि उन्होंने देश में अन्य स्थानीय भाषाओं पर हिंदी थोपे जाने की बात कभी नहीं कही, बल्कि दूसरी भाषा के रूप में इसके (हिंदी के) इस्तेमाल की हिमायत की है। थरूर ने ‘मॉब लिंचिंग’ (भीड़ हत्या) की घटनाओं को लेकर सत्तारूढ़ भाजपा की आलोचना करते हुए कहा कि यह ‘हिंदुत्व और भगवान राम का अपमान’ है। कांग्रेस नेता ने कहा कि केरल में रह रहे (विभिन्न समुदायों के लोंगों) के बीच कोई मतभेद नहीं है। फिर यह महाराष्ट्र में क्यों हो रहा है।उन्होंने कहा कि यहां तक कि मराठा शासक शिवाजी महाराज के शासन के तहत विभिन्न समुदायों से लोग थे। लेकिन उन्होंने हर किसी को एक दूसरे का सम्मान करने का निर्देश दिया था। उन्होंने कहा कि हिंदुत्व का भाजपा का विचारा एक राजनीतिक विचारधारा है और इसका हिंदुत्व से कोई संबंध नहीं है।

About Akhilesh Dubey

Check Also

देश के सबसे बड़े NTPC विंध्याचल में जिप्सम का उत्पादन शुरू, पर्यावरण संरक्षण पर फोकस

सिंगरौली: देश के सबसे बड़े थर्मल पावर प्लांट NTPC विंध्याचल ने जिप्सम का उत्पादन शुरू …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *