Breaking News

बर्थ डे स्पेशल: जानिए शाह के आम इंसान से BJP के ‘चाणक्य’ बनने तक का सफर

 भाजपा अध्यक्ष अमित अमित शाह आज अपना 54वां जन्मदिन मना रहे हैं। इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने उन्हे शुभकामनाएं देते हुए कहा कि उनकी दृढ़ता और कठिन परिश्रम पार्टी के लिए मूल्यवान संपत्ति है। पीएम ने ने ट्वीट किया कि अमित भाई के नेतृत्व में पूरे भारत में पार्टी का महत्वपूर्ण विस्तार हुआ है।

वहीं केन्द्रीय आयुष मंत्री श्रीपद यशो नाइक ने शाह को जन्मदिन की शुभकामना देते हुए उन्हें ‘‘आज का चाणक्य’’ बताया।  नाइक ने शाह ट्वीट किया कि हमारे प्रधान सेवक के विजय रथ का सफल नेतृत्व करने वाले आज के चाणक्य अमित शाह जी को जन्मदिन की शुभकामना। उन्होंने कहा कि विचारधारा के प्रति शाह की प्रतिबद्धता और पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ उनके व्यक्तिगत संबंध उन्हें सबसे अलग बनाते हैं।

अमित शाह का जन्म 22 अक्टूबर 1964 को महाराष्ट्र के मुम्बई में एक व्यापारी के घर हुआ था। उनका पैतृक गांव माणसा है। शाह ने बहुत ही कम उम्र में राजनीति में दिलचस्पी रखना शुरू कर दिया था। जब वो नौ साल के थे, तो उन्होंने कौटिल्य के अर्थशास्त्र को पढ़ा। वे आरएसएस से शुरुआती उम्र में शामिल हुए और अहमदाबाद में एक शाखा में उनके गुरु नरेंद्र मोदी से मिले।

शाह 1986 में भाजपा में शामिल हुए थे। 1997 में पार्टी की ओर से विधानसभा चुनाव लड़ने के लिए उन्हे टिकट दिया गया। जब 2001 में मोदी को गुजरात का मुख्यमंत्री नियुक्त किया गया, तब शाह का सुनहरा दौर शुरू हुआ। खासकर तब, जब 2002 के गोधरा ट्रेन नरसंहार और पूरे प्रदेश में हुए सांप्रदायिक दंगों के बाद हुए विधानसभा चुनाव में बीजेपी की धमाकेदार जीत हुई। मोदी के प्रधानमंत्री बनने और राजनाथ सिंह के कैबिनेट में शामिल होने के बाद शाह ने पार्टी प्रमुख का पद संभाला और इसके बाद उन्होंने पीछे मुड़कर नहीं देखा।

बता दें कि अमित शाह आज आधुनिक युग के चाणक्य कहे जाते हैं। राजनीति के इस समय में तमाम नेता उनमें एक ऐसा शख्स देख रहे हैं जो कोई चुनाव जीतने का माद्दा रखता है। अपने चार साल के कार्यकाल में अमित शाह ने पार्टी को एक नया मुकाम दिया है। चाहे यूपी विधानसभा चुनाव हो, गोवा विधानसभा चुनाव, या फिर त्रिपुरा चुनाव, सभी राज्यों में सरकार बनाने में अमित शाह की भूमिका खास मानी जाती है।

About Akhilesh Dubey

Akhilesh Dubey

Check Also

जम्मू कश्मीर में कभी भी बन सकती है नई सरकार

जम्मू: जम्मू कश्मीर के लोगों को जल्द ही नई सरकार  मिलेगी। 19 दिसंबर को राज्यपाल शासन …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *