Breaking News
Home / खेल / वसीम जाफर ने किया संन्यास का ऐलान, रिकॉर्ड्स ने बनाया उन्हें ‘घरेलू क्रिकेट का सचिन तेंदुलकर’

वसीम जाफर ने किया संन्यास का ऐलान, रिकॉर्ड्स ने बनाया उन्हें ‘घरेलू क्रिकेट का सचिन तेंदुलकर’

नई दिल्ली। Wasim Jaffer Announce Retirement: भारतीय टीम के दिग्गज बल्लेबाज वसीम जाफर ने शनिवार को हर तरह की क्रिकेट से संन्यास का ऐलान कर दिया है। वसीम जाफर ने फर्स्ट क्लास क्रिकेट में 20 हजार से ज्यादा रन बनाए हैं। यहां तक कि भारत में खेली जाने वाली मल्टी डेज क्रिकेट यानी रणजी ट्रॉफी में भी वे सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज हैं।

वसीम जाफर को अगर घरेलू क्रिकेट का सचिन तेंदुलकर कहा जाए तो बुरा नहीं होगा, क्योंकि जिस तरह सचिन तेंदुलकर ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर रनों का अंबार लगाया है। उसी तरह डोमेस्टिक क्रिकेट में वसीम जाफर ने शतक पर शतक और रनों का पहाड़ खड़ा किया हुआ है। दिग्गज बल्लेबाज वसीम जाफर ने क्रिकेट की हर फॉर्मेट से संन्यास का ऐलान करते हुए कहा है, “मेरे पिता चाहते थे कि उनका बेटा एक दिन देश की टीम का प्रतिनिधित्व करे और मैं गर्व महसूस करता हूं कि मैंने उनके सपने को पूरा किया।”

ANI

@ANI

Batsman Wasim Jaffar announces retirement from all forms of cricket, says ‘My father wanted one of his sons to represent India and I feel proud to have fulfilled his dream.’

View image on Twitter
240 people are talking about this

संन्यास का फैसला करने के बाद वसीम जाफर ने कहा है, “मैं बीसीसीआइ, मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन और विदर्भ क्रिकेट एसोसिएशन को धन्यवाद कहना चाहता हूं, जिन्होंने मुझे प्रतिनिधित्व करने का मौका दिया। मेरे लिए सम्मान और गर्व की बात है कि मैंने राहुल द्रविड़, सौरव गांगुली, अनिल कुंबले, वीवीएस लक्ष्मण, वीरेंद्र सहवाग और एमएस धौनी जैसे खिलाड़ियों के साथ ड्रेसिंग रूम शेयर किया।”

वसीम जाफर ने रणजी ट्रॉफी मल्टी डेज टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा मैच खेलने के साथ-साथ सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड अपने नाम किया था। साल 1996-97 में वसीम जाफर ने फर्स्ट क्लास क्रिकेट में डेब्यू किया था और इसके बाद से उन्होंने लगातार घरेलू क्रिकेट में रन बनाए और वे एक लेजेंड की तरह उभरे। यही कारण रहा कि उनकी घरेलू स्तर की परफॉर्मेंस रंग लाई और उनको भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड यानी बीसीसीआइ से बुलावा आया।

साल 2000 में 24 फरवरी को भारतीय टीम के लिए पहला टेस्ट मैच खेला था। इसके बाद से साल 2008 तक उन्होंने कुल 31 टेस्ट मैचों में भारतीय टीम का प्रतिनिधित्व किया, जिनमें 34.10 के औसत से 1944 रन बनाए, जिसमें 5 शतक और 11 अर्धशतक शामिल थे। जाफर को 2 वनडे इंटरनेशनल मैचों में भी भारतीय टीम का प्रतिनिधित्व करने का मौका मिला था, लेकिन वे एक पारी में 10 और एक पारी में बिना खाता खोले आउट हो गए थे।

घरेलू क्रिकेट के सचिन तेंदुलकर!

वसीम जाफर ने 1996 से 2020 तक करीब 24 साल फर्स्ट क्लास क्रिकेट खेली है। 42 साल के वसीम जाफर ने रणजी ट्रॉफी 2019-20 के सीजन में भी कई मैचों में हिस्सा लिया था। वसीम ने 260 फर्स्ट क्लास मैच खेले हैं, जिनमें 19410 रन 50.67 के औसत से बनाए हैं। फर्स्ट क्लास क्रिकेट में वसीम जाफर ने 57 शतक और 91 अर्धशतक ठोके हैं। फर्स्ट क्लास क्रिकेट में उनका बेस्ट स्कोर नाबाद 314 रन है, जबकि टेस्ट क्रिकेट में उनका हाइएस्ट स्कोर 212 रन था।

About Akhilesh Dubey

Check Also

वनडे सीरीज के लिए दक्षिण अफ्रीका टीम पहुंची भारत, 12 मार्च से शुरू होगा पहला मैच

नई दिल्ली: दक्षिण अफ्रीका टीम 12 मार्च से शुरू हो रही तीन मैचों की वनडे श्रृंखला …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *