Thursday , April 19 2018
Breaking News
Home / राज्य / मध्यप्रदेश / जबलपुर / गेहूं खरीदी की अपर्याप्त तैयारियों को लेकर कलेक्टर ने जताई नाराजगी

गेहूं खरीदी की अपर्याप्त तैयारियों को लेकर कलेक्टर ने जताई नाराजगी

जबलपुर।  कलेक्टर श्रीमती छवि भारद्वाज ने जिले में समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीदी के लिए की गई अपर्याप्त तैयारियों को लेकर सख्त नाराजगी का इजहार किया है। उन्होंने अधिकारियों को खरीदी कार्य के लिए पुख्ता बंदोबस्त करने की दिशा में अविलम्ब कदम उठाने के निर्देश दिए हैं। साथ ही आगाह किया है कि खरीदी कार्य में किसी भी प्रकार की गड़बड़ी सामने आने पर सम्बन्धित के विरूद्ध कार्रवाई की जाएगी।
श्रीमती भारद्वाज आज यहां समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीदी की तैयारियों की समीक्षा कर रहीं थीं। उन्होंने निर्देश दिए कि यह सुनिश्चित किया जाए कि प्रत्येक खरीदी केन्द्र की व्यवस्थाएं चाक-चौबंद हों। केन्द्रों में इलेक्ट्रॉनिक तौल-कांटा उपलब्ध हो। उन्होंने खरीदे जाने वाले गेहूं के परिवहन और भण्डारण की व्यवस्था के सिलसिले में की गई तैयारियों की बाबत् अधिकारियों से जानकारी तलब की। कलेक्टर ने साफ शब्दों में कहा कि एफएक्यू क्वालिटी से नीचे की गुणवत्ता का गेहूं स्वीकार न किया जाए तथा यह सुनिश्चित किया जाए कि प्रतिदिन केन्द्रों पर उपार्जित गेहूं का उसी दिन परिवहन कर इसे वेयर हाउस तक पहुंचाया जाए। गेहूं उपार्जन के दौरान गुणवत्ता को लेकर विवाद की स्थिति में सम्बन्धित समिति इस बारे में निर्णय लेने के लिए अधिकृत होगी जिसमें कर्मचारियों और जनप्रतिनिधियों का प्रतिनिधित्व रहेगा।
कलेक्टर ने निर्देश दिए कि जिन समितियों के अनुबंध नहीं हो सके हैं उनके अनुबंध आज ही कराए जाएं। समिति प्रबंधकों के विधिवत् नियुक्ति आदेश तत्काल जारी किए जाएं ताकि किसी भी प्रकार की गड़बड़ी होने पर दायित्व निर्धारण किया जा सके। उन्होंने कहा कि सरकार छोटे किसानों की हितों की रक्षा के प्रति बेहद गंभीर है। अतएव निरीक्षण करने वाले अधिकारी यह सुनिश्चित करें कि छोटे किसानों को खरीदी प्रक्रिया के दौरान किसी भी प्रकार की दिक्कत पेश न आए। श्रीमती भारद्वाज ने नागरिक आपूर्ति निगम प्रबंधक को क्वालिटी कंट्रोल पर सतत् दृष्टि रखने के लिए पाबंद किया।
जिले के विभिन्न क्षेत्रों में समर्थन मूल्य खरीदी के लिए आवश्यक सामग्री पहुंचाने के सिलसिले में अफसरों द्वारा दिए गए जवाब को लेकर कलेक्टर ने असंतोष जताया। उन्होंने एक दिन पूर्व उपार्जन शुरू होने के बावजूद केन्द्रों में बारदाना नहीं पहुंचने को लेकर सख्त नाराजगी जताते हुए विपणन अधिकारी को फौरन जरूरी इंतजाम करने को कहा। श्रीमती भारद्वाज ने ताकीद की कि आज शाम तक हर हाल में सभी केन्द्रों पर बारदाने उपलब्ध कराए जाएं। इसकी रिपोर्ट आपूर्ति अधिकारी आज ही रात 8 बजे  कलेक्टर को देंगे। आपूर्ति अधिकारी से कहा गया कि वे समितियों के पास तौल-कांटों की उपलब्धता सुनिश्चित करें। इस बारे में रिपोर्ट शाम तक प्रस्तुत की जाए। कलेक्टर ने इस बात पर जोर दिया कि खरीदी कार्य में नियमों और प्रक्रिया के सम्बन्ध में किसी भी प्रकार का समझौता न किया जाए। शासन द्वारा व्यवस्थाओं के सिलसिले में जो भी दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं उनके अनुरूप व्यवस्थाएं खरीदी केन्द्रों पर सुनिश्चित की जाएं। उप नियंत्रक नाप-तौल को श्रीमती भारद्वाज ने निर्देश दिए कि वे उपार्जन केन्द्रों में जाकर तौल-कांटों की निरीक्षकों द्वारा जांच सुनिश्चित करें तथा रोज उनके समक्ष रिपोर्ट पेश करें।

गड़बड़ी करने वाले भुगतेंगे खामियाजा

कलेक्टर ने कहा कि खाद्य, सहकारिता और नाप-तौल निरीक्षक समिति स्तर पर गेहूं खरीदी पर सतत् दृष्टि रखेंगे। नागरिक आपूर्ति निगम का अमला क्वालिटी चैक के लिए जरूरी बंदोबस्त करेगा। गोदामों के द्वार तक घटिया माल पहुंचने पर पूरी जिम्मेदारी निगम के अधिकारियों की होगी। श्रीमती भारद्वाज ने आगाह किया कि किसी भी प्रकार की गड़बड़ी के मामलों से जिला प्रशासन को तत्काल अवगत कराया जाए। माल अस्वीकृत होने पर बाकायदा पंचनामा बनाकर सैम्पलिंग की जाए। एफएक्यू से नीचे स्तर का गेहूं खरीदे जाने पर उसी दिन आपूर्ति अधिकारी के जरिए कलेक्टर तक सूचना पहुंचाना होगी। श्रीमती भारद्वाज ने आपूर्ति अधिकारी सी.एस.जादौन को निर्देश दिए कि सम्बन्धित कर्मचारियों को जरूरी प्रशिक्षण दिए जाने की व्यवस्था करें। सतत् निरीक्षण करते हुए मैदानी अधिकारियों से खरीदी कार्य की बाबत् ब्यौरा लिया जाए। कलेक्टर ने चेतावनी दी कि खरीदी में गड़बड़ी तथा खराब गुणवत्ता का गेहूं स्वीकार किए जाने या किसी भी प्रकार से शासन को हानि पहुंचाने की स्थिति में सम्बन्धित समिति के प्रभारी, खाद्य निरीक्षक और सहकारिता निरीक्षक भी जिम्मेदार माने जाएंगे तथा उनके निलम्बन की कार्यवाही की जाएगी।
कलेक्टर श्रीमती भारद्वाज ने बैठक में मौजूद अनुविभागीय अधिकारियों को भी निर्देश दिए कि वे खरीदी केन्द्रों का निरन्तर दौरा कर खरीदी प्रक्रिया पर नजदीकी नजर रखें। इसके अलावा उन्हें समय-समय पर टेलीफोन पर दिए जाने वाले निर्देश के मुताबिक केन्द्रों का औचक निरीक्षण भी करना होगा। अनुविभागीय अधिकारियों को आवश्यकतानुसार गोदामों तक माल के परिवहन के लिए उपयुक्त व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने को भी पाबंद किया गया।
बैठक में अपर कलेक्टर संजना जैन, एसडीएम उमा माहेश्वरी, नम:शिवाय अरजरिया व पी.के.सेनगुप्ता, महाप्रबंधक सहकारी बैंक आलोक यादव, आपूर्ति अधिकारी सी.एस.जादौन, एआरसीएस श्री प्रजापति, उप संचालक कृषि एस.के.निगम तथा अन्य सम्बन्धित विभागों के अधिकारी मौजूद थे।

Click Here

About

Check Also

चार मानसिक दिव्यांगों को लीगल गार्जियनशिप प्रदान

Share this on WhatsAppजबलपुर।  सामाजिक न्याय एवं नि:शक्तजन कल्याण विभाग के तहत गठित जिला लोकल लेबल …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *